Ayushman Bharat Digital Mission 2021 | आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन 2021

 आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन 2021



देश के प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी ने आज डिजिटल स्वास्थ्य मिशन योजना को लांच किया। इस योजना का मुख्य उद्देश्य मरीजों को उनके पुराने रिकॉर्ड डिजिटली उपलब्ध कराने का है। जिससे मरीज और डॉक्टर अपने रिकॉर्ड चेक कर सकते हैं। इस योजना के तहत डॉक्टर, नर्स समेत अन्य स्वास्थ्य कर्मियों का रजिस्ट्रेशन होगा अस्पताल सैनिक मेडिकल स्टोर्स का रजिस्ट्रेशन होगा।

आज के समय में मरीज को एक हॉस्पिटल से दूसरे हॉस्पिटल जाने पर अपना पुराना मेडिकल डॉक्यूमेंट लेकर जाना पड़ता है जिससे उन्हें काफी परेशानी होती है इस योजना के बाद मरीज की हर डॉक्यूमेंट डिजिटली उपलब्ध होगा।

कैसे बनाएं हेल्थ आईडी

इस योजना के तहत हर नागरिक के पास हेल्थ आईडी होगी। यह कार पूरी तरह से डिजिटल होगा जो देखने में आधार कार्ड की तरह होगा। इस कार्ड पर आपको एक नंबर मिलेगा जैसा नंबर आधार में होता है। इसी नंबर से स्वास्थ्य क्षेत्र में व्यक्ति की पहचान होगी। पब्लिक हॉस्पिटल, कम्युनिटी हेल्थ सेंटर, हेल्थ एड वैलनेस सेंटर या हेल्थ केयर प्रोवाइडर जो नेशनल हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर रजिस्टर से जुड़ा हो किसी भी व्यक्ति की हेल्प आईडी बना सकता है।

या आप खुद भी सरकार की दी इस https://healthid.gov.in/ आईडी पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

यूनियन हेल्थ कार्ड से क्या फायदा होगा

• यूनियन हेल्थ कार्ड बन जाने के बाद मरीज को डॉक्टर से दिखाने के लिए फाइल ले जाने की आवश्यकता नहीं होगी।

• डॉक्टर अस्पताल रोगी का यूनियन हेल्थ आईडी देखकर उसका पूरा डाटा निकालेंगे और सभी बातें जान सकेंगे।

• यह कार्ड यह भी बताएगा कि उस व्यक्ति को किन किन सरकारी योजनाओं का लाभ मिलता है।

हेल्थ आईडी में यह बातें होंगी संलग्न

• जिस व्यक्ति की आईडी बनेगी उससे मोबाइल नंबर और आधार नंबर लिया जाएगा।

• सरकार एक हेल्थ अथॉरिटी बनाएगी जो व्यक्ति का एक एक डाटा जूटाएगी।

• जिस व्यक्ति की हेल्थ आईडी बनी है उसके हेल्थ रिकॉर्ड्स उठाने के लिए हेल्थ अथॉरिटी की तरफ से इजाजत दी जाएगी।

Comments

Popular posts from this blog

भारतीय संविधान से संबंधित 100 महत्वपूर्ण प्रश्न उतर

संविधान की प्रमुख विशेषताओं का उल्लेख | Characteristics of the Constitution of India

संविधान के अनुच्छेद 19 में मूल अधिकार | Fundamental Right of Freedom in Article 19 of Constitution