Posts

First Female in India - Indian Constitution Quiz 3

Indian Constitution Quiz 3 - First Female in India or Woman were first to do something in various fields.Questions in this Quiz about Indian Women are as following ... India’s First Woman Prime MinisterIndia’s First Woman PresidentFirst Woman President of INCIndia’s First Woman GovernorFirst Woman Judge of Supreme CourtFirst Indian Woman to get Bharat RatnaFirst Woman Lok Sabha SpeakerFirst Woman Deputy Chairman of Rajya SabhaFirst Woman High Court Judge in IndiaFirst Woman High Court Chief Justice in IndiaHere you go.. Just assess how much you score on these questions....
Loading…  Indian Constitution Quiz 3 - First Female in India

Indian Constitution Quiz 2 | Constitution of India Questions and Answers

Indian Constitution Quiz 2 | Constitution of India Questions and AnswersHere in this post there are total 5 questions related to Indian constitution and Indian Legal History. If you are preparing for some govt jobs / UPSC / SPSC / SSC etc or you are a student of law or alert Indian Citizen you must know and try this quiz. Even if you are a school going student or attending university or professor or retired person you can enjoy this short quiz of 5 questions related to Samvidhan / Indian Constitution and Legal History of India.
Who among the following was the first chief Justice of India and assumed office on 26th Jan. 1950 ?Which Constitutional Article lays down the provision for a National Commission for SC and ST ?The Constitution of India, was drafted and enacted in which language ?National Commission for SC and ST shall be made by which constitutional institution ?Which Constitutional Article defines the Panchayat Raj ?
Loading… Indian Constitution Quiz 2 | Constitution of In…

Indian Constitution Quiz 1 | Indian Polity Quiz

Indian Constitution Quiz 1 | Indian Polity QuizHere are few questions related to Indian Constitution and Polity. Students appearing for various competitive examinations like UPSC, SSC, State PSC may find the questions related Constitution of India useful. This is just first quiz on this website and from now onward you will get Indian Constitution Daily.

Loading… Give your feedback by commenting on this quiz about Indian Constitution / Polity

जमानत - Bail

जमानतकिसी भी गिरफ्तार व्यक्ति की स्वतंत्रता छीन जाती है और वह बंदी की स्थिति में आ जाता है जबकि उसे मुकदमे की अवधि के दौरान और अपराध सिद्ध होने तक निर्देश माना जाता चाहिए| मुकदमा काफी लंबा चल सकता है ऐसी स्थिति में उसे परिवार को भी कष्ट उठाना पड़ता है| यह भी हो सकता है कि उसके आजीविका के साधन नौकरी व्यवसाय आदि को हानि हो जाए ऐसे में उसका परिवार निर्धन असहाय तथा बेघर बार हो जाता है| यदि बंदी अपने परिवार ईस्ट मित्रों व वकील से अलग हो जाता है तो तय है कि वह अपने बचाव में कुछ नहीं कर पाएगा| इसके अतिरिक्त सरकार की राजस्व विभाग को भी उसे जेल में रखने का खर्चा उठाना पड़ता है| इस स्थिति का दूसरा पक्ष यह भी है कि गिरफ्तार कैदी को स्वतंत्र आवाजाही भी खतरनाक सिद्ध हो सकती है| वह दूसरे अपराध भी कर सकता है या भाग सकता है| वह  केस के प्रमाणो को नष्ट कर सकता है और गवाहों को डरा धमका भी सकता है| वह राजनीतिक दबाव भी बना सकता है और समाज तथा न्याय की हानि कर सकता है| ऐसी अवस्था में जमानत ना देना विपरीत संभावनाओं को टालने का सही उपाय है|जमानत शब्द का शाब्दिक अर्थ प्रतिभूति, सुरक्षा सिक्योरिटी रकम है| अप…

सामान्य व्यक्ति द्वारा गिरफ्तारी

सामान्य व्यक्ति द्वारा गिरफ्तारीजिस अपराधी पर इनाम घोषित हो उसे कोई भी सामान्य व्यक्ति गिरफ्तार कर सकता है ऐसे व्यक्ति को आवश्यक है कि वह तुरंत गिरफ्तार अपराधी को पुलिस के हवाले कर दे| परंतु यहां ध्यान रखने योग्य बात यह है कि किसी को मात्र संदेह के आधार पर सामान्य व्यक्ति गिरफ्तार नहीं कर सकता, इश्तहारी अपराध को गिरफ्तार कर सामान्य व्यक्ति थाने भिजवा आएगा इसमें जरा भी विलंब न करना होगाइस विषय में कुछ अन्य बातें भी जानकारी योग है  | जैसे_ बिना वारंट उस व्यक्ति को भी गिरफ्तार हो सकती है जो मजिस्ट्रेट की उचित में अपराध कर रहा हो या मजिस्ट्रेट के अधिकार क्षेत्र में अपराध किया जाए|इन्हें गिरफ्तार नहीं किया जा सकतासेंट्रल रिज़र्व फोर्स का कोई भी व्यक्ति जो अपने कर्तव्य पालन का कार्य करने के कारण या अन्य संभावित व्यक्ति कार्य के निर्वाहन कि किसी भी कार्यवाही के लिए तब तक गिरफ्तार नहीं किया जा सकता जब तक केंद्र सरकार की स्वीकृति ना हो| इसके अतिरिक्त राज्य सरकार अधिनियम द्वारा सुरक्षा बल के वर्ग या  प्रवर्ग  के सदस्यों के विषय में आदेश दे  सकती है| आदेश के अंतर्गत सुरक्षा बलों का कोई व्यक्ति …

गिरफ्तारी और जमानत

गिरफ्तारी और जमानतपुलिस द्वारा जब किसी व्यक्ति को अपने अधिकार में अथवा कब्जे में ले लिया जाता है तो उसे गिरफ्तारी कहा जाता है| गिरफ्तारी का कानूनी अर्थ भी यही है| इस दृष्टि से आवश्यक नहीं कि पुलिस ही बरन एक सामान्य नागरिक भी किसी संज्ञेय अथवा ऐसे अपराध के अपराधी को जो और जमानत किए हैं अपने अधिकार अथवा कब्जे में ले सकता है|यह गिरफ्तारी दो प्रकार से की जाती है| पहली वारंट के साथ दूसरी बिना वारंट के  | इस विषय में संज्ञेय तथा गंभीर  अपराधों के लिए बिना वारंट की गिरफ्तारी हो सकती है|गिरफ्तारी के संबंध में जो बिना वारंट गिरफ्तार की कानूनी स्थिति है उसे इस प्रकार स्पष्ट किया जा सकता है_1, यदि कोई व्यक्ति किसी  संज्ञेय  अपराध में जुड़ा रहता है या फिर इसी प्रकार के अपराध लिए जो गंभीर खतरनाक संगीन जुर्म थे उस पर केस चला हो|2, बिना वारंट गिरफ्तारी उस व्यक्ति की भी हो सकती है जो हिरासत से निकल धागा हो अथवाउसके पास अवैध शस्त्र औजार रखा पाया गया हो|3, पुलिस कार्य में बाधा डालने वाले व्यक्ति को भी बिना वारंट गिरफ्तार किया जा सकता है| किसके साथ ही विदेश में ऐसा अपराध करने वाला भी बिना वारंट के ही ग…

जमानती - गैर जमानती अपराधी धाराएं

जमानती गैर जमानती अपराधी धाराएंअपराध अथवा जुर्म:- जब कोई व्यक्ति ऐसा कृत्य करता है जो भारतीय दंड संहिता की धाराओं के अंतर्गत वर्जित है तो उसका वही कृत्य अपराध अथवा जुर्म कहलाता है | स्थापित भारतीय कानूनों के खिलाफ किया गया काम भी अपराध की श्रेणी में आता है |जमानत के आधार पर अपराध :- किए गए अपराध के लिए व्यक्ति के प्रकरण के निस्तारण तक जमानत पर रिहाई प्राप्त हो जाती है और कई मामलों में नहीं | जमानत के आधार पर जुर्म अथवा अपराधियों को भारतीय दंड प्रक्रिया सहित अधिनियम सन 1973 संशोधित के अनुसार 3 वर्गों में बांटा गया है |1. जमानती अपराध :- जिस में जमानत का प्रावधान है | जो अधिकार स्वरूप मिलती है |2. गैर जमानती अपराध :- जिस में जमानत का प्रावधान ही नहीं है|3. माननीय न्यायालय के विवेका अनुसार :- मामले की संगीता एवं अपराधी की प्रकृति के अनुसार माननीय न्यायालय विवेकाधिकार से जमानत दे भी सकता है और नहीं भी | सामान्य जानकारी के लिए पाठकों की सहायतार्थ आईपीसी कि उन धाराओं का विवरण अग्वर्णित है जिसके आधार पर अपराध की श्रेणी निर्धारित की गई है |जमानत के अपराध :- आई पी सी कि वह धाराएं जिनके अंतर्ग…