Section 225 Contract Act 1872

 

Section 225 Contract Act 1872 in Hindi and English 



Section 225 Contract Act 1872 :Compensation to agent for injury caused by principal's neglect - The principal must make compensation to his agent in respect of injury caused to such agent by the principal's neglect or want of skill.

Illustration

A employs B as a bricklayer in building a house, and puts up the scaffolding himself. The scaffolding is unskilfully put up, and B is in consequence hurt. A must make compensation to B.


Supreme Court of India Important Judgments And Case Law Related to Section 225 of Contract Act 1872 :


भारतीय संविदा अधिनियम, 1872 की धारा 225 का विवरण :  -  मालिक की उपेक्षा से कारित क्षति के लिए अभिकर्ता को प्रतिकर -- मालिक की उपेक्षा से या कौशल के अभाव में उसके अभिकर्ता को कारित क्षति के लिए मालिक अभिकर्ता को प्रतिकर देगा।

दृष्टान्त

'क' एक गृह बनाने के लिए 'ख' को राज के तौर पर नियोजित करता है और पाड़ स्वयं ही लगाता है। पाड़कौशलहीनता से लगाई गई है और परिणामतः ‘ख’ उपहूत होता है। ‘ख’ को ‘क’ प्रतिकर देगा।


To download this dhara / Section of Contract Act in pdf format use chrome web browser and use keys [Ctrl + P] and save as pdf.

Comments

Popular posts from this blog

भारतीय संविधान से संबंधित 100 महत्वपूर्ण प्रश्न उतर

संविधान की प्रमुख विशेषताओं का उल्लेख | Characteristics of the Constitution of India

संविधान के अनुच्छेद 19 में मूल अधिकार | Fundamental Right of Freedom in Article 19 of Constitution