Section 135 The Army Act, 1950

 

Section 135 The Army Act, 1950 in Hindi and English 



Section 135 The Army Act, 1950  :Summoning witnesses.

(1) The convening officer, the presiding officer of a court- martial, 1[ or courts of inquiry] the judge advocate or the commanding officer of the accused person may, by summons under his hand, require the attendance, at a time and place to be mentioned in the summons, of any person either to give evidence or to produce any document or other thing.

(2) In the case of a witness amenable to military authority, the summons shall be sent to his commanding officer, and such officer shall serve it upon him accordingly.

(3) In the case of any other witness, the summons shall be sent to the magistrate within whose jurisdiction he may be or reside, and such magistrate shall give effect to the summons as if the witness were required in the court of such magistrate.

(4) When a witness is required to produce any particular document or other thing in his possession or power, the summons shall describe it with reasonable precision.




Supreme Court of India Important Judgments And Case Law Related to Section 135 of The Army Act, 1950  :



सेना अधिनियम, 1950 की धारा 135 का विवरण :  - साक्षियों को समन करना - (1) संयोजक आफिसर, सेना-न्यायालय या जांच न्यायालय का पीठासीन आफिसर, जज-एडवोकेट या अभियुक्त व्यक्ति का कमान आफिसर, स्वहस्ताक्षरित समन द्वारा किसी व्यक्ति की, या तो साक्ष्य देने के लिए या कोई दस्तावेज या अन्य वस्तु पेश करने के लिए उस समय या स्थान पर जो समन में वर्णित किया जाए, हाजिरी अपेक्षित कर सकेगा।

(2) उस साक्षी की दशा में, जो सैनिक प्राधिकार के अध्यधीन है समन उसके कमान आफिसर को भेजा जाएगा और वह आफिसर उसकी उस पर तद्नुसार तामील करेगा।

(3) किसी अन्य साक्षी की दशा में, समन उस मजिस्ट्रेट को भेजा जाएगा, जिसकी अधिकारिता के अन्दर वह हो या निवास करता हो, और वह मजिस्ट्रेट समन को ऐसे कार्यान्वित करेगा मानो साक्षी उस मजिस्ट्रेट के न्यायालय में आने के लिए अपेक्षित हो।

(4) जब कि कोई साक्षी अपने कब्जे में या शक्ति में की किसी विशिष्ट दस्तावेज या अन्य वस्तु को पेश करने के लिए अपेक्षित हो, तब समन में युक्तियुक्त प्रमितता के साथ उसका वर्णन किया जाएगा।



To download this dhara / Section of Contract Act in pdf format use chrome web browser and use keys [Ctrl + P] and save as pdf.

Comments

Popular posts from this blog

भारतीय संविधान से संबंधित 100 महत्वपूर्ण प्रश्न उतर

संविधान की प्रमुख विशेषताओं का उल्लेख | Characteristics of the Constitution of India

संविधान के अनुच्छेद 19 में मूल अधिकार | Fundamental Right of Freedom in Article 19 of Constitution