Section 67 CrPC

 Section 67 CrPC in Hindi and English



Section 67 of CrPC 1973 :- 67. Service of summons outside local limits -- When a Court desires that a summons issued by it shall be served at any place outside its local jurisdiction, it shall ordinarily send such summons in duplicate to a Magistrate within whose local jurisdiction the person summoned resides, or is, to be there served.



Supreme Court of India Important Judgments And Case Law Related to Section 67 of Criminal Procedure Code 1973:

State Of Karnataka vs K.A. Kunchindammed on 16 April, 2002



दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 67 का विवरण :  -  67. स्थानीय सीमाओं के बाहर समन की तामील -- जब न्यायालय यह चाहता है कि उसके द्वारा जारी किए गए समन की तामील उसकी स्थानीय अधिकारिता के बाहर किसी स्थान में की जाए तब वह मामूली तौर पर ऐसा समन दो प्रतियों में उस मजिस्ट्रेट को भेजेगा जिसकी स्थानीय अधिकारिता के अन्दर उसकी अपील की जानी है या समन किया गया व्यक्ति निवास करता है।



To download this dhara / Section of CrPC in pdf format use chrome web browser and use keys [Ctrl + P] and save as pdf.

Comments

Popular posts from this blog

संविधान की प्रमुख विशेषताओं का उल्लेख | Characteristics of the Constitution of India

भारतीय संविधान से संबंधित 100 महत्वपूर्ण प्रश्न उतर

संविधान के अनुच्छेद 19 में मूल अधिकार | Fundamental Right of Freedom in Article 19 of Constitution