Section 435 CrPC

 

Section 435 CrPC in Hindi and English



Section 435 of CrPC 1973 :- 435. State Government to act after consultation with Central Government in certain cases —

(1) The powers conferred by sections 432 and 433 upon the State Government to remit or commute a sentence, in any case where the sentence is for an offence

(a) which was investigated by the Delhi Special Police Establishment constituted under the Delhi Special Police Establishment Act, 1946 (25 of 1946) or by any other agency empowered to make investigation into an offence under any Central Act other than this Code, or

(b) which involved the misappropriation or destruction of, or damage to, any property belonging to the Central Government, or

(c) which was committed by a person in the service of the Central Government while acting or purporting to act in the discharge of his official duty, shall not be exercised by the State Government except after consultation with the Central Government.

(2) No order of suspension, remission or commutation of sentences passed by the State Government in relation to a person, who has been convicted of offences, some of which relate to matters to which the executive power of the Union extends and who has been sentenced to separate terms of imprisonment which are to run concurrently, shall have effect unless an order for the suspension, remission or commutation, as the case may be, of such sentences has also been made by the Central Government in relation to the offences committed by such person with regard to matters to which the executive power of the Union extends.




Supreme Court of India Important Judgments And Case Law Related to Section 435 of Criminal Procedure Code 1973:

Chandrasekhar Singh & Ors vs Siya Ram Singh & Ors on 26 September, 1978

U.J.S. Chopra vs State Of Bombay on 25 March, 1955

Union Of India vs V. Sriharan @ ,Murugan & Ors on 2 December, 2015

State Of Orissa vs Nakula Sahu & Ors on 30 November, 1978

The Cantonment Board, Ambala vs Pyarelal on 12 March, 1965

Kalu Ahir And Others vs Ramdeo Ram on 1 May, 1973

Bondada Gajapathy Rao vs State Of Adhra Pradesh on 16 March, 1964

State Of Bihar vs K. K. Misra & Ors on 29 October, 1969

The Darcah Committee, Ajmer vs State Of Rajasthan on 24 April, 1961

State Of Bihar vs Kamla Kant Misra And Ors. on 29 October, 1969




दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 435 का विवरण :  -  435. कुछ मामलों में राज्य सरकार का केन्द्रीय सरकार से परामर्श करने के पश्चात् कार्य करना --

(1) किसी दण्डादेश का परिहार करने या उसके लघुकरण के बारे में धारा 432 और 433 द्वारा राज्य सरकार को प्रदत्त शक्तियों का राज्य सरकार द्वारा प्रयोग उस दशा में केन्द्रीय सरकार से परामर्श किए बिना नहीं किया जाएगा जब दण्डादेश किसी ऐसे अपराध के लिए है--

(क) जिसका अन्वेषण दिल्ली विशेष पुलिस स्थापन अधिनियम, 1946 (1946 का 25) के अधीन गठित दिल्ली विशेष पुलिस स्थापन द्वारा या इस संहिता से भिन्न किसी केन्द्रीय अधिनियम के अधीन अपराध का अन्वेषण करने के लिए सशक्त किसी अन्य अभिकरण द्वारा किया गया है, अथवा

(ख) जिसमें केन्द्रीय सरकार की किसी संपत्ति का दुर्विनियोग या नाश या नुकसान अन्तर्ग्रस्त है, अथवा

(ग) जो केन्द्रीय सरकार की सेवा में किसी व्यक्ति द्वारा तब किया गया है जब वह अपने पदीय कर्तव्यों के निर्वहन, में कार्य कर रहा था या उसका ऐसे कार्य करना तात्पर्यत था।

(2) जिस व्यक्ति को ऐसे अपराधों के लिए दोषसिद्ध किया गया है जिनमें से कुछ उन विषयों से संबंधित हैं, जिन पर संघ की कार्यपालिका शक्ति का विस्तार है और जिसे पृथक्-पृथक अवधि के कारावास का, जो साथसाथ भोगी जानी है, दण्डादेश दिया गया है, उसके संबंध में दण्डादेश के निलंबन, परिहार या लघुकरण का राज्य सरकार द्वारा पारित कोई आदेश प्रभावी तभी होगा जब ऐसे विषयों के बारे में जिन पर संघ की कार्यपालिका शक्ति का विस्तार है, उस व्यक्ति द्वारा किए गए अपराधों के संबंध में ऐसे दण्डादेशों के, यथास्थिति, परिहार, निलंबन या लघुकरण का आदेश केन्द्रीय सरकार द्वारा भी कर दिया गया है।



To download this dhara / Section of CrPC in pdf format use chrome web browser and use keys [Ctrl + P] and save as pdf.

Comments

Popular posts from this blog

भारतीय संविधान से संबंधित 100 महत्वपूर्ण प्रश्न उतर

संविधान की प्रमुख विशेषताओं का उल्लेख | Characteristics of the Constitution of India

संविधान के अनुच्छेद 19 में मूल अधिकार | Fundamental Right of Freedom in Article 19 of Constitution