Section 41A CrPC

 Section 41A CrPC in Hindi and English


Section 41A of CrPC 1973 :- 41 A. Notice of appearance before police officer --(1) The police officer shall, in all cases where the arrest of a person is not required under the provisions of sub-section (1) of section 41, issue a notice directing the person against whom a reasonable complaint has been made, or credible information has been received, or a reasonable suspicion exists that he has committed a cognizable offence, to appear before him or at such other place as may be specified in the notice.

(2) Where such a notice is issued to any person, it shall be the duty of that person to comply with the terms of the notice.

(3) Where such person complies and continues to comply with the notice, he shall not be arrested in respect of the offence referred to in the notice unless, for reasons to be recorded, the police officers are of the opinion that he ought to be arrested.

(4) Where such person, at any time, fails to comply with the terms of the notice or is unwilling to identify himself, the police officer may, subject to such orders as may have been passed by a competent Court in this behalf, arrest him for the offence mentioned in the notice.




Supreme Court of India Important Judgments And Case Law Related to Section 41A of Criminal Procedure Code 1973:

Ramesh Kumari vs State (N.C.T. Of Delhi) And Ors on 21 February, 2006


दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 41-क. का विवरण :  -  41-क. पुलिस अधिकारी के समक्ष उपसंजाति के लिए सूचना -- (1) उन सभी मामलों में जहाँ धारा 41 की उपधारा (1) के उपबन्धों के अधीन किसी व्यक्ति की गिरफ्तारी अपेक्षित नहीं है, पुलिस अधिकारी, उस व्यक्ति जिसके विरुद्ध युक्तियुक्त परिवाद किया गया है या विश्वसनीय सूचना प्राप्त हुई है या युक्तियुक्त सन्देह विद्यमान है कि उसने संज्ञेय अपराध कारित किया है, को अपने समक्ष या ऐसे अन्य स्थान पर जैसा कि नोटिस में विनिर्दिष्ट किया जाए, उपसंजात होने का निर्देश देने वाला नोटिस जारी करेगा।

(2) जहाँ ऐसा नोटिस किसी व्यक्ति को जारी किया जाता है तब उस व्यक्ति का यह कर्तव्य होगा कि वह नोटिस के निबन्धनों का अनुपालन करे।

(3) जहाँ ऐसा व्यक्ति नोटिस का अनुपालन करता है या नोटिस का अनुपालन करना जारी रखता है, नोटिस में निर्दिष्ट अपराध के सम्बन्ध में उसको तब तक गिरफ्तार नहीं किया जाएगा, जब तक अभिलिखित लेखबद्ध किए जाने वाले कारणों से, पुलिस अधिकारी की यह राय न हो कि उसे गिरफ्तार किया जाना चाहिए।

(4) जहाँ ऐसा व्यक्ति, किसी समय, नोटिस के निबन्धनों का अनुपालन करने में असफल रहता है या स्वयं की पहचान कराने का अनिच्छुक हो, तब पुलिस अधिकारी, ऐसे आदेशों के अध्यधीन रहते हुए जो इस निमित्त सक्षम न्यायालय द्वारा पारित किये जाएँ, नोटिस में उल्लिखित अपराध के लिये उसे गिरफ्तार कर सकेगा।



To download this dhara / Section of CrPC in pdf format use chrome web browser and use keys [Ctrl + P] and save as pdf.

Comments

Popular posts from this blog

संविधान की प्रमुख विशेषताओं का उल्लेख | Characteristics of the Constitution of India

भारतीय संविधान से संबंधित 100 महत्वपूर्ण प्रश्न उतर

संविधान के अनुच्छेद 19 में मूल अधिकार | Fundamental Right of Freedom in Article 19 of Constitution