Section 134 CrPC

 Section 134 CrPC in Hindi and English


Section 134 of CrPC 1973 :- 134. Service or notification of order--(1) The order shall, if practicable, be served on the person against whom it is made, in the manner herein provided for service of a summons.

(2) If such order cannot be so served, it shall be notified by proclamation, published in such manner as the State Government may, by rules, direct and a copy thereof shall be struck up at such place or places as may be fittest for conveying the information to such person.



Supreme Court of India Important Judgments And Case Law Related to Section 134 of Criminal Procedure Code 1973:

Re-Ramlila Maidan Incident Dt vs Home Secretary And Ors on 23 February, 2012

State Of Bihar vs K. K. Misra & Ors on 29 October, 1969

State Of Bihar vs Kamla Kant Misra And Ors. on 29 October, 1969

Madhu Limaye vs Sub-Divisional Magistrate, on 28 October, 1970



दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 134 का विवरण :  -  134. आदेश की तामील या अधिसूचना -- (1) आदेश की तामील उस व्यक्ति पर, जिसके विरुद्ध वह किया गया है, यदि साध्य हो तो उस रीति से की जाएगी जो समन की तामील के लिए इसमें उपबंधित है।

(2) यदि ऐसे आदेश की तामील इस प्रकार नहीं की जा सकती है तो उसकी अधिसूचना ऐसी रीति से प्रकाशित उद्घोषणा द्वारा की जाएगी जैसी राज्य सरकार नियम द्वारा निर्दिष्ट करे और उसकी एक प्रति ऐसे स्थान या स्थानों पर चिपका दी जाएगी जो उस व्यक्ति को इत्तिला पहुँचाने के लिए सबसे अधिक उपयुक्त है।



To download this dhara / Section of CrPC in pdf format use chrome web browser and use keys [Ctrl + P] and save as pdf.

Comments

Popular posts from this blog

संविधान की प्रमुख विशेषताओं का उल्लेख | Characteristics of the Constitution of India

भारतीय संविधान से संबंधित 100 महत्वपूर्ण प्रश्न उतर

संविधान के अनुच्छेद 19 में मूल अधिकार | Fundamental Right of Freedom in Article 19 of Constitution