Section 152 The Trade Marks Act, 1999

 


Section 152 The Trade Marks Act, 1999: 

Declaration as to ownership of trade mark not registrable under the Registration Act, 1908.—Notwithstanding anything contained in the Registration Act, 1908 (16 of 1908), no document declaring or purporting to declare the ownership or title of a person to a trade mark other than a registered trade mark shall be registered under that Act.



Supreme Court of India Important Judgments And Leading Case Law Related to Section 152 The Trade Marks Act, 1999: 


Abdul Mujeeb Abdul Wajid Pvt. Ltd. vs Ahmed Mohamed Saleh Baseshen And ... on 6 October, 2006


व्यापार चिह्न अधिनियम, 1999 की धारा 152 का विवरण : 

व्यापार चिह्न के स्वामित्व के संबंध में घोषणा का रजिस्ट्रीकरण अधिनियम, 1908 के अधीन रजिस्ट्रीकरण न होना-रजिस्ट्रीकरण अधिनियम, 1908 (1908 का 16) में किसी बात के होते हुए भी, रजिस्ट्रीकृत व्यापार चिह्न से भिन्न किसी व्यापार चिह्न पर किसी व्यक्ति के स्वामित्व या हक को घोषित करने वाले, या घोषित करना तात्पर्यित करने वाले किसी दस्तावेज को उस अधिनियम के अधीन रजिस्ट्रीकृत नहीं किया जाएगा ।




To download this dhara / Section of  The Trade Marks Act, 1999 in pdf format use chrome web browser and use keys [Ctrl + P] and save as pdf.

Comments

Popular posts from this blog

भारतीय संविधान से संबंधित 100 महत्वपूर्ण प्रश्न उतर

संविधान की प्रमुख विशेषताओं का उल्लेख | Characteristics of the Constitution of India

संविधान के अनुच्छेद 19 में मूल अधिकार | Fundamental Right of Freedom in Article 19 of Constitution