Section 50 Arbitration and Conciliation Act, 1996

 


Section 50  Arbitration and Conciliation Act, 1996: 

Appealable orders.—

(1) An appeal shall lie from the order refusing to—

(a) refer the parties to arbitration under section 45;

(b) enforce a foreign award under section 48, to the court authorised by law to hear appeals from such order.

(2) No second appeal shall lie from an order passed in appeal under this section, but nothing in this section shall affect or take away any right to appeal to the Supreme Court.




Supreme Court of India Important Judgments And Leading Case Law Related to Section 50  Arbitration and Conciliation Act, 1996: 

M/S Transmission Corporation Of  vs M/S Lanco Kondapalli Power Pvt. on 15 December, 2005

M/S Shriram Epc Limited vs Rioglass Solar Sa on 13 September, 2018



माध्यस्थम् और सुलह अधिनियम, 1996 की धारा 50 का विवरण : 

अपीलीय आदेश-(1) ऐसे किसी आदेश से कोई अपील, जिसमें-

(क) धारा 45 के अधीन पक्षकारों को माध्यस्थम् के लिए निर्देशित करने ;

(ख) धारा 48 के अधीन किसी विदेशी पंचाट को प्रवर्तित करने, से इंकार कर दिया गया हो, उस न्यायालय में होगी जो ऐसे आदेश की अपील सुनने के लिए विधि द्वारा प्राधिकृत हो ।

 (2) इस धारा के अधीन अपील में पारित किसी आदेश से द्वितीय अपील नहीं होगी, किन्तु इस धारा में की कोई भी बात उच्चतम न्यायालय में अपील करने के किसी अधिकार पर प्रभाव न डालेगी और न उसे ले लेगी ।




To download this dhara / Section of  Arbitration and Conciliation Act, 1996 in pdf format use chrome web browser and use keys [Ctrl + P] and save as pdf.

Comments

Popular posts from this blog

भारतीय संविधान से संबंधित 100 महत्वपूर्ण प्रश्न उतर

संविधान की प्रमुख विशेषताओं का उल्लेख | Characteristics of the Constitution of India

संविधान के अनुच्छेद 19 में मूल अधिकार | Fundamental Right of Freedom in Article 19 of Constitution