Section 138 The Trade Marks Act, 1999

 

Section 138 The Trade Marks Act, 1999: 

 Registrar and other officers not compellable to produce register, etc.—The Registrar or any officer of the Trade Marks Registry shall not, in any legal proceedings to which he is not a party, be compellable to produce the register or any other document in his custody, the contents of which can be proved by the production of a certified copy issued under this Act or to appear as a witness to prove the matters therein recorded unless by order of the court made for special cause.



Supreme Court of India Important Judgments And Leading Case Law Related to Section 138 The Trade Marks Act, 1999: 


Registrar Of Trade Marks vs Kapoor Saws Manufacturing Co & Ors on 31 July, 2017



व्यापार चिह्न अधिनियम, 1999 की धारा 138 का विवरण : 

रजिस्ट्रार और अन्य अधिकारियों का रजिस्टर, आदि पेश करने के लिए बाध्य न होना-रजिस्ट्रार या व्यापार चिह्न रजिस्ट्री का कोई अधिकारी, किन्हीं विधिक कार्यवाहियों में, जिनका वह पक्षकार नहीं है, रजिस्टर या उसकी अभिरक्षा के किसी अन्य दस्तावेज को, जिसकी अंतर्वस्तु इस अधिनियम के अधीन दी गई प्रमाणित प्रति पेश करके साबित की जा सकती है, पेश करने या उसमें अभिलिखित विषय को साबित करने के लिए साक्षी के रूप में उपसंजात होने के लिए बाध्य नहीं किया जाएगा जब तक कि विशेष कारण से न्यायालय आदेश न दें ।



To download this dhara / Section of  The Trade Marks Act, 1999 in pdf format use chrome web browser and use keys [Ctrl + P] and save as pdf.

Comments

Popular posts from this blog

भारतीय संविधान से संबंधित 100 महत्वपूर्ण प्रश्न उतर

संविधान की प्रमुख विशेषताओं का उल्लेख | Characteristics of the Constitution of India

संविधान के अनुच्छेद 19 में मूल अधिकार | Fundamental Right of Freedom in Article 19 of Constitution