Section 442 IPC in Hindi and English

 Section 442 IPC in Hindi and English


Section 442 of IPC 1860:- House trespass -

Whoever commits criminal trespass by entering into or remaining in any building, tent or vessel used as a human dwelling or any building used as a place for worship, or as a place for the custody of property, is said to commit "house-trespass”.

Explanation - The introduction of any part of the criminal trespasser's body is entering sufficient to constitute house-trespass.




Supreme Court of India Important Judgments And Case Law Related to Section 442 of Indian Penal Code 1860:

Karipi Rasheed Ahmed vs State Of A.P on 26 February, 2009

Sri Suresh Kumar Goyal vs The State Of Uttar Pradesh on 11 January, 2019

Shafikuth Hussain @ Ravi vs State Of A.P on 10 December, 2009



आईपीसी, 1860 (भारतीय दंड संहिता) की धारा 442 का विवरण - गृह-अतिचार -

जो कोई किसी निर्माण, तम्बू या जलयान में, जो मानव निवास के रूप में उपयोग में आता है, या किसी निर्माण में, जो उपासना-स्थान के रूप में, या किसी संपत्ति की अभिरक्षा के स्थान के रूप में उपयोग में आता है, प्रवेश करके या उसमें बना रहकर, आपराधिक अतिचार करता है, वह “गृह-अतिचार" करता है, यह कहा जाता है।

स्पष्टीकरण - आपराधिक अतिचार करने वाले व्यक्ति के शरीर के किसी भाग का प्रवेश गृह-अतिचार गठित करने के लिए पर्याप्त प्रवेश है।



To download this dhara of IPC in pdf format use chrome web browser and use keys [Ctrl + P] and save as pdf.

Comments

Popular posts from this blog

संविधान की प्रमुख विशेषताओं का उल्लेख | Characteristics of the Constitution of India

भारतीय संविधान से संबंधित 100 महत्वपूर्ण प्रश्न उतर

संविधान के अनुच्छेद 19 में मूल अधिकार | Fundamental Right of Freedom in Article 19 of Constitution