Section 204 IPC in Hindi and English

 Section 204 IPC in Hindi and English


Section 204 of IPC 1860:-Destruction of document or electronic record to prevent its production as evidence -

Whoever secretes or destroys any document or electronic record which he may be lawfully compelled to produce as evidence in a Court of Justice, or in any proceeding lawfully held before a public servant, as such, or obliterates or renders illegible the whole or any part of such document or electronic record with the intention of preventing the same from being produced or used as evidence before such Court or public servant as aforesaid, or after he shall have been lawfully summoned or required to produce the same for that purpose, shall be punished with imprisonment of either description for a term which may extend to two years, or with fine, or with both.


Supreme Court of India Important Judgments And Case Law Related to Section 204 of Indian Penal Code 1860:

Adalat Prasad vs Rooplal Jindal & Ors on 25 August, 2004

K.M. Mathew vs State Of Kerala And Anr on 19 November, 1991

India Carat Pvt. Ltd vs State Of Karnataka & Anr on 15 February, 1989

Bhushan Kumar & Anr vs State(Nct Of Delhi) & Anr on 4 April, 2012

Mowu vs Superintendent Special Jail on 14 December, 1970

Bholu Ram vs State Of Punjab & Anr on 29 August, 2008

The State Of Gujarat vs Afroz Mohammed Hasanfatta on 5 February, 2019

M. L. Sethi vs R. P. Kapur & Anr on 23 September, 1966

State Of Punjab vs Dalbir Singh on 1 February, 2012

Nirmaljit Singh Hoon vs The State Of West Bengal And Anr on 6 September, 1972



आईपीसी, 1860 (भारतीय दंड संहिता) की धारा 204 का विवरण -साक्ष्य के रूप में किसी दस्तावेज या इलेक्ट्रानिक अभिलेख का पेश किया जाना निवारित करने के लिए उसको नष्ट करना -

जो कोई किसी ऐसे दस्तावेज या इलेक्ट्रानिक अभिलेखों को छिपाएगा या नष्ट करेगा जिसे किसी न्यायालय में या ऐसी कार्यवाही में, जो किसी लोक-सेवक के समक्ष उसकी वैसी हैसियत में विधिपूर्वक की गई है, साक्ष्य के रूप में पेश करने के लिए उसे विधिपूर्वक विवश किया जा सके, या पूर्वोक्त न्यायालय या लोक-सेवक के समक्ष साक्ष्य के रूप में पेश किए जाने या उपयोग में लाए जाने से निवारित करने के आशय से, या उस प्रयोजन के लिए उस दस्तावेज या इलेक्ट्रानिक अभिलेख, को पेश करने को उसे विधिपूर्वक समनित या अपेक्षित किए जाने के पश्चात् ऐसी संपूर्ण दस्तावेज या इलेक्ट्रानिक अभिलेख को, या उसके किसी भाग को मिटाएगा, या ऐसा बनाएगा, जो पढ़ा न जा सके, वह दोनों में से किसी भांति के कारावास से, जिसकी अवधि दो वर्ष तक की हो सकेगी, या जुर्माने से, या दोनों से, दण्डित किया जाएगा।


To download this dhara of IPC in pdf format use chrome web browser and use keys [Ctrl + P] and save as pdf.

Comments

Popular posts from this blog

भारतीय संविधान से संबंधित 100 महत्वपूर्ण प्रश्न उतर

संविधान की प्रमुख विशेषताओं का उल्लेख | Characteristics of the Constitution of India

संविधान के अनुच्छेद 12 के अनुसार राज्य | State in Article 12 of Constitution