Section 267 IPC in Hindi and English

 Section 267 IPC in Hindi and English



Section 267 of IPC 1860:-Making or selling false weight or measure –

Whoever makes, sells or disposes of any instrument for weighing, or any weight, or any measure of length or capacity which he knows to be false, in order that the same may be used as true, or knowing that the same is likely to be used as true, shall be punished with imprisonment of either description for a term which may extend to one year, or with fine, or with both.



Supreme Court of India Important Judgments And Case Law Related to Section 267 of Indian Penal Code 1860:

The State Of Uttar Pradesh vs Aman Mittal on 4 September, 2019


आईपीसी, 1860 (भारतीय दंड संहिता) की धारा 267 का विवरण - खोटे बाट या माप का बनाना या बेचना -

जो कोई तोलने के ऐसे किसी उपकरण या बाट को या लंबाई या धारिता के ऐसे किसी माप को, जिसका खोटा होना वह जानता है, इसलिए कि उसका खरे की तरह उपयोग किया जाए, या यह संभाव्य जानते हुए कि उसका खरे की तरह उपयोग किया जाए, बनाएगा, बेचेगा या व्ययनित करेगा, वह दोनों में से किसी भांति के कारावास से, जिसकी अवधि एक वर्ष तक की हो सकेगी, या जुर्माने से, या दोनों से, दण्डित किया जाएगा।



To download this dhara of IPC in pdf format use chrome web browser and use keys [Ctrl + P] and save as pdf.

Comments

Popular posts from this blog

संविधान की प्रमुख विशेषताओं का उल्लेख | Characteristics of the Constitution of India

भारतीय संविधान से संबंधित 100 महत्वपूर्ण प्रश्न उतर

संविधान के अनुच्छेद 19 में मूल अधिकार | Fundamental Right of Freedom in Article 19 of Constitution