Section 171D IPC in Hindi

 Section 171D IPC in Hindi and English


Section 171D of IPC 1860:-  Personation at elections -

Whoever at an election applies for a voting paper or votes in the name of any other person, whether living or dead, or in a fictitious name, or who having voted once at such election applies at the same election for a voting paper in his own name, and whoever abets, procures or attempts to procure the voting by any person in any such way, commits the offence or personation at an election :

Provided that nothing in this section shall apply to a person who has been authorised to vote as proxy for an elector under any law for the time being in force in so far as he votes as a proxy for such elector.



Supreme Court of India Important Judgments And Case Law Related to Section 171D of Indian Penal Code 1860:

The State vs Siddhannath Gangaram on 13 February, 1956

State Of Orissa vs Gokul Barik on 20 November, 1958

Achcha Bhoomanna vs The Court Of District Munsiff on 11 June, 1991

Brahma Nand Misra vs Emperor on 11 August, 1939

In Re: Pantam Venkayya vs Unknown on 30 October, 1929

K.Sudhakaran vs The State Of Kerala on 12 February, 2021

Nenu Ram vs State & Anr on 14 November, 2017

State Of Gujarat vs Chandulal Bhikhlal on 16 December, 1963

In Re: Muthiah And Ors. vs Unknown on 27 September, 1965

Ravikumar vs State on 27 September, 2018


आईपीसी, 1860 (भारतीय दंड संहिता) की धारा 171घ का विवरण - निर्वाचनों में प्रतिरूपण -

जो कोई किसी निर्वाचन में किसी अन्य व्यक्ति के नाम से, चाहे वह जीवित हो या मृत, या किसी कल्पित नाम से, मतपत्र के लिए आवेदन करता या मत देता है, या ऐसे निर्वाचन में एक बार मत दे चुकने के पश्चात् उसी निर्वाचन में अपने नाम के मतपत्र के लिए आवेदन करता है, और जो कोई किसी व्यक्ति द्वारा किसी ऐसे प्रकार से मतदान को दुष्प्रेरित करता है, उपाप्त करता है या उपाप्त करने का प्रयत्न करता है, वह निर्वाचन में प्रतिरूपण का अपराध करता है।

परन्तु यह तब जबकि, इस धारा में का कुछ भी, उस व्यक्ति को लागू नहीं होगा, जिसको तत्समय प्रवृत्त किसी विधि के तहत, किसी मतदाता के लिए, परोक्षी के रूप में, मतदान करने के लिए प्राधिकृत किया गया है, जहां तक, वह ऐसे मतदाता के लिए एक परोक्षी के रूप में मतदान करता है।


To download this dhara of IPC in pdf format use chrome web browser and use keys [Ctrl + P] and save as pdf.


Comments

Popular posts from this blog

भारतीय संविधान से संबंधित 100 महत्वपूर्ण प्रश्न उतर

संविधान की प्रमुख विशेषताओं का उल्लेख | Characteristics of the Constitution of India

संविधान के अनुच्छेद 12 के अनुसार राज्य | State in Article 12 of Constitution