Rule of Law in Hindi & Exception to Fundamental Right to Equality

 Question here is what is rule of law and what are the exceptions of fundamental right of equality. Rule of Law is a British concept which says no one is above law and people are equal before the law. We have article 14 of Indian constitution but there are exception to this right too.


विधि शासन- विधि के समक्ष समता की गारंटी उसी के समान है जिसे इंग्लैंड में विधि शासन कहते हैं" विधि शासन" का अर्थ है कि कोई भी व्यक्ति कानून से ऊपर नहीं है प्रत्येक व्यक्ति चाहे उसकी अवस्था या पर जो कुछ भी हो देश की सामान्य विधियों के अधीन और साधारण न्यायालयों की अधिकारिता के भीतर है राष्ट्रपति से लेकर देश का निधन से निर्धन व्यक्ति समान विधि के अधीन है और बिना औचित्य के किसी कृत्य के लिए समान रूप से उत्तरदाई है इस संबंध में सरकारी अधिकारियों और साधारण नागरिकों में भेद नहीं किया गया है|


समता के नियम के अपवाद- अनुच्छेद 14 में निहित क्षमता का नियम absolute  नियम नहीं है और इसके अनेक अपवाद भी हैं उदाहरण के लिए विदेशी कूटनीतिज्ञ को न्यायालय न्यायालय के अधिकार से बाहर रखा गया है इसी प्रकार भारतीय संविधान भी कुछ अधिकारियों को साधारण नागरिकों से अधिक विशेषाधिकार प्रदान करता है और दायित्व से मुक्ति प्रदान करता है अनुच्छेद 361 के अंतर्गत भारत के राष्ट्रपति, प्रांतों के राज्यपालों, लोक अधिकारियों, न्यायालयों के न्यायाधीशों, और भूतपूर्व राज्यों के नरेश ओं को ऐसी छूट प्रदान की गई है ऐसा उनकी विशेष स्थिति विशेष पद और विशेष जिम्मेदारी के कारण किया गया है ताकि वह देश के प्रति अपने कर्तव्यों का समुचित रूप से पालन कर सकें इसी प्रकार अनुच्छेद 31 (से) के अधीन पारित विधियों को अनुच्छेद 14 के उल्लंघन के आधार पर चुनौती नहीं दी जा सकती

Comments

Popular posts from this blog

भारतीय संविधान से संबंधित 100 महत्वपूर्ण प्रश्न उतर

संविधान की प्रमुख विशेषताओं का उल्लेख | Characteristics of the Constitution of India

संविधान के अनुच्छेद 19 में मूल अधिकार | Fundamental Right of Freedom in Article 19 of Constitution