न्यायिक सक्रियता क्या है | Judicial Activism

प्रश्न - न्यायिक सक्रियता क्या है?
What is Judicial Activism?
उत्तर-- उच्चतम न्यायालय एवं उच्च न्यायालयों को नागरिकों के मूल अधिकारों का सजग प्रहरी एवं संविधान का संरक्षक कहा गया है अब प्रत्येक व्यक्ति अपने अधिकारों के प्रवर्तन के लिए न्यायालय में दस्तक दे सकता है निर्धनता उसके न्याय के मार्ग में बाधक नहीं हो सकती संविधान और विधियों में निर्धन व्यक्तियों के लिए निशुल्क विधिक सहायता की व्यवस्था की गई है लोकहित वाद एवं पत्रों में समाचार पत्रों की कतरनों के आधार पर भी अब न्याय उपलब्ध कराया जाने लगा है।
उल्लेखनीय है कि अब तो जनहित के अनेक मामलों में न्यायालय विधायिका एवं कार्यपालिका के कार्यक्षेत्र में भी हस्तक्षेप कर रहे हैं यही न्यायिक सक्रियता है।

Comments

Popular posts from this blog

Article 188 Constitution of India

73rd Amendment in Constitution of India

Article 350B Constitution of India